दिल्ली की फैक्ट्रियों में ऐसे तैयार हो रहा था असली ब्रांड का नकली माल, मसालों में मिलाते थे सड़े जामुन, बुरादा।

delhi crime news

पुलिस की जाँच में पता चला कि करावल नगर के काली खाता रोड पर एक और फैक्ट्री भी इसी तरह की गतिविधियों में लीन है। टीम ने वहाँ छापेमारी की और सरफराज नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। यहाँ से भी नकली मसालों के नमूने लिए जा रहे थे, जिन्हें अलग-अलग जगहों पर बेचा जा रहा था।

delhi crime news
delhi crime news

सोचिए, जब आप अपने पसंदीदा खाने का लुत्फा उठा रहे हैं और उसमें सब्जियों और मसालों का स्वाद महसूस कर रहे हैं, तो आपको कैसा लगेगा अगर आपके खाने में नकली मसाले हों? सोचने वाली बात है, लेकिन यह दिल्ली एनसीआर में हालात थे, जहां हर घर, रेस्टोरेंट और ढाबा को असली स्वाद से वंचित किया जा रहा था। क्राइम ब्रांच ने दो फैक्ट्री मालिकों और एक सप्लायर को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने 15 टन नकली मसाले और कच्चे माल का तैयारी और वितरण किया था।

यह भी पढ़े…दिल्ली के केशवपुरम में बड़ा हादसा, मासूम भाई-बहन की हत्या पिता लापता

यह भी पढ़े…8 महीने पहले शादी,मायके में पत्नी… नांगलोई में जोमैटो डिलीवरी बॉय की गला रेतकर हुई हत्या

अगर आप विश्वास करें तो आपकी रसोई में असली मसाले हों, लेकिन दिल्ली एनसीआर में तमाम घरों, रेस्टोरेंट और ढाबे वालों को ऐसे मिलावटी मसाले सप्लाई हो रही थी, जो करावल नगर की फैक्ट्रियों में तैयार किए जा रहे थे। क्राइम ब्रांच ने दो फैक्ट्री मालिकों और एक सप्लायर को गिरफ्तार किया है और 15 टन नकली मसाले और कच्चा माल और सप्लाई करने वाला टेंपो बरामद किया है।

क्राइम ब्रांच के डीसीपी राकेश पवेरिया ने बताया कि टीम को मिलावटी और नकली मसाले बनाने वालों और सप्लायरों के खिलाफ सुराग लगाने के निर्देश दिए गए थे। सूचना मिली थी कि नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में कुछ मैन्युफैक्चरर्स और दुकानदार अलग-अलग ब्रैंड के नाम पर एनसीआर में मिलावटी मसाले सप्लाई कर रहे थे। एसीपी पवन के सुपरवाइजन में इंस्पेक्टर वीरेंद्र, एसआई हरविंदर, प्रवेश, निशा, एएसआई कंवरपाल, विनोद, हेड कॉन्स्टेबल विपिन, अनुज, विनोद, आनंद, कॉन्स्टेबल बिजेन्द्र, सचिन ने करावल नगर इलाके में दो फैक्ट्रियों पर रेड किया। यहां दिलीप सिंह उर्फ बंटी और खुर्शीद मलिक नाम के दो लोग थे। दिलीप रंग, अन्य चीजें मिलाकर हल्दी और अन्य मसाले तैयार कर रहा था। दोनों ने भागने की कोशिश की, लेकिन इन्हें काबू कर लिया गया। दिलीप मालिक है और खुर्शीद सप्लायर है। टीम ने फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट को सूचित किया और उन्होंने मौके पर आकर निरीक्षण किया।

delhi crime news
delhi crime news

दिलीप सिंह, मध्य प्रदेश के निवासी, अपने परिवार के साथ दयालपुर मेन रोड करावल नगर में निवास करते हैं। उनके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां और एक बेटा हैं। दिलीप ने 2004 में दिल्ली आने के बाद पहले एक जनरल स्टोर में काम करना शुरू किया। 2021 में मोटे मुनाफे की लालच में, उन्होंने अपने एक दोस्त के साथ मसालों की एक यूनिट शुरू की। वहां वह मिलावटी मसाले बनाने लगे और इन्हें एनसीआर के मार्केट के अलावा सदर बाजार, खारी बावली, पुल मिठाई, आदि में बेचने लगे। उनकी सप्लाई खासकर वीकली मार्केट में ज्यादा होती थी। नवंबर 2023 से उन्होंने अपने पास केवल प्रोसेसिंग यूनिट चलाना शुरू किया।

दूसरी यूनिट का मालिक सरफराज है, जो मुस्तफाबाद का निवासी है और परिवार में पत्नी के साथ एक बेटी और बेटा हैं। 2021 में उन्होंने एक यूनिट का शुरूआती दिया था। उन्हें भी उसी तरह मसालों की तैयारी करने का काम करते हूए, मुस्तफाबाद, खजूरी खास और इस प्रकार के इलाकों में सप्लाई करने का काम था। साथ ही, सप्लायर खुर्शीद मलिक भी हैं, जो लोनी के निवासी हैं और परिवार में पत्नी के साथ तीन बेटों और एक बेटी हैं। उन्होंने साल 2013 में बुलंदशहर से दिल्ली आने का निर्णय लिया था। उन्होंने पहले कपड़े की खरीद-बिक्री का काम किया, और फिर 2019 में एक टेम्पो खरीदा और दिल्ली और लोनी के स्थानीय बाजारों में नकली मसाले सप्लाई करने लगे।

Leave a Comment

Recent Post

Live Cricket Update

You May Like This

Verified by MonsterInsights